इरेक्‍शन के बाद पेनिस का सही साइज …!!

एक नए सर्वें के मुताबिक, अमेरिका में अधिकत्तर पुरूषों का पेनिस उत्तेजित (erect) होने के बाद 5.6 इंच यानी 14.2 सेंटीमीटर लंबा हो होता है।

ये रिसर्च 10 जुलाई को सेक्सुअल मेडीसिन जनरल में प्रकाशित हुई जिसमें तकरीबन 1,661 पुरूषों को शामिल किया गया।

इस रिसर्च को करने का प्रमुख कारण लिंग साइज पर आए वो तमाम सर्वें थे जिसमें ये जानने की कोशिश की गई कि इरेक्ट होने के बाद आमतौर पर पुरूषों का लिंग साइज कितना हो जाता है।

सीबीएसन्यूज में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार आमतौर पर पेनिस साइज को लेकर कई रिसर्च हो चुकी हैं। बहुत से पुरूषों में पेनिस के साइज के लेकर खूब मिथ रहते हैं, इसके लिए उन्हें कई स्पैम मेल भी आती है। पुरूषों के इसी भ्रम को दूर करने के लिए इस रिसर्च को खासतौर पर किया गया।

लेकिन ये अभी तक भी बहस का मुद्दा है कि पुरूषों का पेनिस साइज का इफेक्ट वाकई सेक्स पार्टनर पर और सेक्सुअल लाइफ पर पड़ता है या नहीं? लेकिन रिसर्च में ये बात भी सामने आई है कि महिलाओं को वैजाइनल ऑर्गेज्म (सेक्स सेटिस्फेक्‍शन) उन्हीं पुरूषों से मिलता है जिनका पेनिस बड़ा होता है।

कई रिसर्च में ये बात सामने आई है कि लिंग का बड़ा साइज हमेशा ही अच्छा होता है। एक स्टडी में ये बात भी सामने आई है कि पेनिस का साइज पुरूष की हाइट पर भी निर्भर करता है। एक अन्य रिसर्च में इस बात की पुष्टि हुई कि पेनिस की लंबाई से ज्यादा उसकी मोटाई महिलाओं के लिए ज्यादा मायने रखती है।

इस स्टडी से निकले ये नतीजे
इन सब शोधों के बाद जब इंडियाना यूनिविर्सिटी ने ये नई स्टडी 1661 पुरूषों पर की गई जिसमें सभी प्रतिभागियों को अपने पेनिस का साइज और आकार को ऑनलाइन फॉर्म के जरिए सबमिट करने को कह गया तो कुछ पुरूषों ने अपने पार्टनर तो कुछ ने दोस्तों के सामने अपने पेनिस का मेजरमेंट लिया।

लेकिन इस मेजरमेंट के दौरान पुरूषों के पेनिस में इरेक्शन होना जरूरी था। जब डाटा देखा गया तो उसमें सबसे छोटे साइज के पेनिस की लंबाई 1.6 इंच यानी 4 सेंटीमीटर लंबी थी और सबसे बड़े पेनिस साइज की लंबाई 10.2 इंच यानी 26 सेंटीमीटर थी।

इस डाटा में औसतन पेनिस की मोटाई (परिधि) 4.8 इंच यानी 12.2 सेंटीमीटर थी।

रिसर्च में शोधकर्ता डेब्‍बी हर्बेनि‍क ने पाया कि हर इरेक्‍शन के बाद सभी पेनिस का साइज एक बराबर नहीं हो सकता। अलग-अलग तरीके से इरेक्‍शन के तरीकों को अपनाने के कारण अलग-अलग तरीके का मेजरमेंट सामने आया है।

शोधकर्ता का ये भी कहना है कि ओरल सेक्स से इरेक्‍शन अलग तरीके का होगा। यदि पुरूष अपने पार्टनर के साथ है तो इरेक्‍शन अलग तरीके से होगा। लेकिन इसका ये अर्थ नहीं कि पुरूष का लिंग साइज बहुत ज्यादा या कम होगा लेकिन इसमें फिर भी अंतर आ सकता है।

क्या कहते हैं पहले किए गए शोध
भारतीयों के प्राइवेट पार्ट को लेकर सर्वे चौंकाने वाला है। चार इंच के औसत आकार के साथ 113 देशों की लिस्ट में भारत नीचे से चौथे (110वां) स्‍थान पर है। ब्रिटिश वैज्ञानिक और अल्सटर यूनिवर्सिटी के मनोवैज्ञानिक प्रोफेसर रिचर्ड लेन के सर्वे में अफ्रीका 6.3 इंच के साथ टॉप पर काबिज है।

वहीं उत्तर-पूर्वी एशियाई सबसे नीचे पायदान पर हैं। यूरोपियन लोगों के के प्राइवेट पार्ट का औसत आकार 5.7 इंच है। लेन का कहना है कि ‘वंश के आधार पर गुप्तांग की साइज’ ‌थ्योरी से इस सर्वे से मुहर लगती है। यह रिसर्च साइंटिफिक जनरल ‘पर्सनैलिटी एंड इंडिविजुअल्स डिफरेंस’ में छपी है।

 

You may like :

Follow us on FB

Polls

Do you think Spot Fixing is yet further Commercialization of Cricket?

View Results

Loading ... Loading ...

Photo Gallery

Designed by East Innovations